WordPress database error: [UPDATE command denied to user 'u757747397_tRgYV'@'127.0.0.1' for table 'wp_postmeta']
UPDATE `wp_postmeta` SET `meta_value` = '728' WHERE `post_id` = 40572 AND `meta_key` = 'post_views_count'

आयुर्वेद व चिकित्सा जगत केे गुरु भगवान धन्वंतरि मानेे गए हैंं। आज के दिन धन्वंतरि की पूजा-अर्चना करते हैं व व्यापारी भी इसी दिन गादी बिछाते हैं। 

दिवाली से ठीक दो दिन पहले धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। इस साल धनतेरस 2 नवंबर यानी आज है। इस दिन माता लक्ष्मी और धन के देवता कुबेर, प्रभु धन्वंतरि और मृत्यु के देवता यमराज की पूजा की जाती है। मान्यता है कि धनतेरस के दिन गहने या बर्तन खरीदने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। इस दिन विधि-विधान के साथ माता लक्ष्मी की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि रहने की भी मान्यता है। जानिए धनतेरस शुभ मुहूर्त, पूजन विधि, महत्व और दीपदान का समय-

हिंदू पंचांग के अनुसार, धनतेरस हर साल कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाता है। इस तिथि की शुरुआत 2 नवंबर को सुबह 11 बजकर 31 मिनट से होगी और 3 नवंबर को सुबह 09 बजकर 02 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। प्रदोष काल शाम 05 बजकर 35 मिनट से रात 08 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। धनतेरस पूजा का शुभ मुहूर्त 06 बजकर 17 मिनट से रात 08 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। यम दीपदान का समय शाम 05 बजकर 35 मिनट से 06 बजकर 35 मिनट तक है।

धनतेरस 2021 पूजन का शुभ मुहूर्त-

प्रदोष काल शाम 05 बजकर 35 मिनट से रात 08 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। धनतेरस पूजा का शुभ मुहूर्त 06 बजकर 17 मिनट से रात 08 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। यम दीपदान का समय शाम 05 बजकर 35 मिनट से 06 बजकर 35 मिनट तक है।

धनतेरस पूजन विधि-

सबसे पहले भगवान धन्वंतरि, माता लक्ष्मी, भगवान शिव, भगवान विष्णु, कुबेर देव आदि की प्रतिमा स्थापित करें। इसके बाद भगवान धन्वंतरि की पूजा करें। अब भगवान को रोली, अक्षत, चंदन, पुष्प, मिठाई आदि अर्पित करें। इसके बाद खीर का भोग लगाएं। पूजा के अंत में देवी-देवताओं की आरती उतारें। फिर घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलाएं। एक दीपक यम देवता के नाम का जलाना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से यमदेव प्रसन्न होते हैं और अकाल मृत्यु का भय समाप्त होता है।

धनतेरस पर क्या खरीदना चाहिए-

धनतेरस पर सोना-चांदी के गहने, पीतल के बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है। इसके साथ ही इस दिन धनिया और झाड़ू खरीदना भी शुभ होता है।

धनतेरस पर खरीदारी का अति उत्तम मुहूर्त-

ज्योतिष शास्त्र में धनतेरस के दिन को बेहद शुभ माना जाता है। इस बार धनतेरस के दिन सुबह 8 से 10 बजे के बीच खरीदारी के लिए शुभ समय होगा। इसमें स्थिर लग्न (वृश्चिक) उपस्थित रहेगी। इसके अलावा दूसरा शुभ मुहूर्त सुबह 10:40 से दोपहर 1:30 के बीच रहेगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस दौरान लाभ और अमृत के शुभ चौघड़िया मुहूर्त उपस्थित रहेंगे। वहीं, दोपहर 1:50 से 3 बजे के बीच और शाम 6:30 से रात 8:30 के बीच खरीदारी का स्थिर लग्न का शुभ मुहूर्त रहेगा।

DIGITAL प्रतियोगिता -By KAMALDNP (Powered By RAMA DEL)

Join government job preparation. SSC,NADA,UPSC,CDS,JEE,AE(GS.GK,MATH,ENGLISH,TECHNICAL

Leave a Comment