what is carding in hindi

what is carding in hindi, दोस्तों Carding के बारे में आपने जरुर सुना होगा . आज सभी चीज़े online हो गई है . एक तरफ जहा हमे सुविधा मिल रही है तो दूसरी तरफ यह हमारे personal details के लिए घातक भी सिद्ध हो रहा है . क्योंकि कुछ असामाजिक तत्व illegal काम करते है . जिससे हमे काफी नुकसान आर्थिक और सामाजिक हो सकता है .  दोस्तों हम बात कर रहे है carding की तो अगर आपको नहीं पता है की carding क्या होता है और इससे कैसे बचे तो हमारा ये article last तक जरुर पढ़े-

Carding का मतलब क्रेडिट कार्ड फ्रॉड होता है. कार्डिंग उसे कहा जाता है जब कोई हैकर किसी दुसरे व्यक्ति का क्रेडिट कार्ड चुराकर उससे पैसे निकाल ले. कार्डिंग में आपको सिर्फ सामने वाले के क्रेडिट की जानकारी चाहिए होती है उसके बाद आप उस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हो. उदहारण के लिए अगर आपके पास कार्डिंग से हासिल किया हुआ क्रेडिट कार्ड होगा तो आप उसका इस्तेमाल करके फ्री में Rs 50,000 का मोबाइल भी खरीद सकते हो |

जो व्यक्ति Carding करता है उसे Carder कहा जाता है. आपने भी देखा होगा जो कार्डिंग करते है वो महंगे से महंगे वास्तु भी सस्ते दामों पर खरीद लेते है. क्या आपने कभी सोचा वो यह काम कैसे करते है? देखिये सबसे पहले वो इंटरनेट के द्वारा अपने शिकार की खोज करते है और उनके क्रेडिट कार्ड डिटेल्स निकालते है. फिर यह चेक किया जाता है की क्रेडिट कार्ड सच में काम करता है या नहीं. अगर क्रेडिट कार्ड सच में काम कर रहा होता है तो उसे कार्डिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है. कुछ लोग क्रेडिट कार्ड से खुद कार्डिंग नहीं करते बल्कि दुसरे कार्डर को बेच देते है. इसका सबसे अच्छा उदहारण Dark Web है जहा क्रेडिट कार्ड काफी सस्ते दामों पर ख़रीदा जा सकता है |

कार्डिंग करने के लिए हैकर काफी सावधानी अपनाते है. वो सीधा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं करते बल्कि खुद का लोकेशन, नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर आदि जैसे जरुरी डिटेल्स छुपा लेते है फिर कार्डिंग किया जाता है. इस काम को अंजाम देने के लिए हैकर VPN, Socks Proxy, Fake Address, Fake Email & Mobile Number का प्रयोग करते है जिससे किसी को उन पर संदेह ना हो |

आजकल आपको कार्डर इंटरनेट पर हर जगह देखने को मिल जायेंगे. यह लोग महंगी से महंगी सामान भी सस्ते दामों पर खरीदने का वादा करके आपको जाल में फंसाते है. आजकल टेलीग्राम, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर ऐसे लोग ज्यादा देखने को मिलते है और इनसे दूर रहने में ही आपका फायदा है. बहुत से कार्डर आप से पहले पेमेंट ले लेंगे उसके बाद आपका आर्डर भी पूरा नहीं करते और सीधा ब्लाक कर देते है. अगर आपको अपना आर्डर मिल भी जाता है तो आपने भी एक तरह से क्राइम ही किया है, अगर वो कार्डर पकड़ा जाता है तो पुलिस आपकी खोज भी अवश्य करेगी. इसलिए कार्डिंग और कार्डर से हमेशा दूर रहे.

तो दोस्तों देखा आपने लोग कार्डिंग के प्रयोग से किस प्रकार लोगो का नुकसान करते है. ये लोग शुरुवात में खुद को काफी होशियार समझते है लेकिन आप हमेशा साइबर क्राइम करके नहीं बच सकते. पुलिस हमेशा इन लोगो की तलाश में रहती है एक बार पकड़े जाने पर सीधा लंबी जेल होती है. मेरा यही सुझाव होगा की हमेशा कार्डिंग और कार्डर से दूरी ही बनाकर रखे |

Carding फ्रॉड से कैसे बचे:

सबसे पहले तो आपको इतना बताना चाहूँगा की कार्डिंग से पूरी तरह बचना असंभव है लेकिन अगर कुछ सावधानियां अपनाई जाये तो इनसे काफी हद तक बचा जा सकता है. इसलिए आपको खुद सावधान रहने की आवश्यकता है चलिए हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता देते है जो कार्डिंग से बचने में आपकी मदद करते है.

1) अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड डिटेल को लीक होने से बचाना चाहते है तो कभी भी अनजान वेबसाइट पर अपना क्रेडिट कार्ड डिटेल ना डाले. हमेशा चेक करे कही वो कोई फर्जी वेबसाइट तो नहीं, संतुष्ट होने के बाद ही कोई निर्णय लेना उचित होगा.

2) ब्राउज़र में वेबसाइट एड्रेस चेक करे की उसमे HTTPS है या नहीं. आपके जानकारी के लिए बताना चाहूँगा की जिस भी वेबसाइट में HTTPS नहीं होता उसमे हैक होने का डर सबसे अधिक होता है.

3) कभी भी किसी को अपने क्रेडिट कार्ड की कोई भी जानकारी ना दे चाहे वो आपका दोस्त क्यों ना हो.

4) जब भी ATM से पैसे निकाले इस बात की संतुष्टि जरुर करे की कोई आपको देख तो नहीं रहा.

5) ऑनलाइन पेमेंट के लिए हमेशा OTP का इस्तेमाल करे.

6) कुछ ऐसी वेबसाइट होती है जो दिखने में बिलकुल असली मालूम पड़ती है लेकिन होती फेक है ऐसे वेबसाइट को हम Phishing Website कहते है. आजकल के ब्राउज़र आसानी से नकली वेबसाइट का पता लगा लेते है लेकिन आपको भी सावधान रहने की जरुरत है. अगर आप Amazon वेबसाइट पर जाये तो URL चेक करे कही कोई दुसरे वेबसाइट का एड्रेस तो नहीं जो सिर्फ Amazon की तरह दिखाई दे रहा हो.

7) जब भी आप किसी ब्राउज़र में पेमेंट एड्रेस डालते हो तो आप से पूछा जाता है की इसे सेव किया जाये या नहीं. मेरा यही सुझाव होगा की कभी भी ब्राउज़र में क्रेडिट कार्ड डिटेल्स सेव ना करे.

Credit Card हैकर:

Credit Card हैकर, Carding के तरह-तरह के हैकिंग (Fraud) Trick का use करके Credit Card के Details जुटाते है| इसके पास एक दो नहीं हजारो ऐसे तरीके होते है जिनके द्वारा ये  Credit Cards के Information को जुटाते है, जैसे की..

  • Online Shopping Website
  • Internet Photo, Gmail, Google Plus, Video
  • WhatsApp , Facebook, Twitter,Ect
  • ATM Scanning
  • Memorization
  • Camera
  • Banks
  • Random pattern , Search

क्रेडिट कार्ड हैकर इन सभी तरीको का use करके Credit Card Information का बहुत बड़ा Database बना लेते है, उसके बाद ये सभी Credit Cards को check करते है , की किस-किस Credit Cards का पूरा details है , क्योकि ये जरुरी नहीं हैकर को सभी क्रेडिट कार्ड्स का पूरा Information मिल जाता हो,

For Example- मान लो अगर हैकर 10 क्रेडिट कार्ड  Information हैक किया, तो उसको शायद एक या दो Credit Card के full Infomation मिलेंगे , जैसे की Card Number, Full Name, CVV, PIN, Expiry Date, Date of Birth. बाकि के सभी कार्ड में , किसी का नाम नहीं रहेगा , किसी CVV ,PIN’ होगा, मतलब कम्पलीट इनफार्मेशन नहीं  होगा,

जितने भी Cards का full Information हैकर को मिल जाता है उन सबको को Carder को बेच देते है या अगर हैकर खुद ही Carder है, तो खुद से Cards के इनफार्मेशन का use करके Credit Cards से पैसे चुराता है |

Carder क्या होता है (What is Carder)?

Carders, Credit Card के Infomation का use करके  पैसे चुराते है, इसके लिए यह बहुत से तरीको का use करते है, इसमें से कुछ तरीको के बारे में मै जनता हूँ , उसके बारे में आपको बता रहा हूँ,

Carders, Credit Cards से online Shopping करते है जैसे की Smartphone, Camera, Computer, TV, Shoes, Cloth, tablet और बहुत कुछ, उसके बाद ये Credit Card से खरीदे गए सामान को कम दाम में  बेचते है,

For Example- बहुत बार आप सभी ने अपने WhatsApp, Facebook ग्रुप में देखा होगा, बहुत से ऐसे पोस्ट या मेसेज आते है , जिसमे बहुत ही कम दाम में Smartphone, Shoes, Cameras मिलते है,

Carder, Credit Card के Information से Bitcoin Purchase करते है , फिर बाद Bitcoins को बेच कर पैसे कमा लेते है,

 

Leave a Comment